जानिए 12th Ke Baad Kya Kare क्या होना चाहिए आपका अगला कदम?

12th Ke Baad Kya Kare

शिक्षा मानव जीवन की महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है और एक समय के अध्ययन के बाद अगला कदम सीखने का समय आता है। क्या आपके मन में भी बहुत सरे सवाल आते है की ba ke baad kya kare, 12th ke baad kya kare, bsc ke baad kya kare, b. com ke baad kya kare, 12th ke baad kya kare science student, तो आप बिकुल सही जगह पर यहीं हम इस लेख में यही साडी बात को अच्छे से समझेंगे और सब ज़रूरी जानकारी प्राप्त करंगे तो चलो शुरू करते हैं.

12Th Ke Baad Kya Kare

12वीं के बाद क्या करें? 12Th Ke Baad Kya Kare

12Th Ke Baad Kya Kare, आपको अपने विशेषज्ञ दिशा में अग्रसर होने के लिए एक विषय चुनना होगा जैसा निचे बताया गया है। यह एक महत्वपूर्ण कदम है जो आपके करियर के पथ को प्रशंसा करेगा। अपने चुने गए विषय के हिसाब से सही शिक्षा प्राप्त करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह आपके विशेषज्ञता को मजबूत करेगा और आपको अपने करियर के क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने में मदद करेगा।

12Th Ke Baad Kya Kare बीएससी BSc कर सकते हैं

12Th Ke Baad Kya Kare बीएससी, एक 3-वर्षीय बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम है, जो विविदता और महत्वपूर्ण विज्ञान क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए एक बहुत लोकप्रिय विकल्प है। बीएससी का पूरा रूप “बैचलर ऑफ साइंस” है। ये पाठ्यक्रम उन छात्रों के लिए एक मूल पाठ्यक्रम के रूप में माना जाता है, जो विज्ञान के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं। इसमें विभिन्न विशेषज्ञताओं, जैसे कि बीएससी आईटी, बीएससी माइक्रोबायोलॉजी, बीएससी कंप्यूटर साइंस, और बीएससी फिजिक्स आदि की पेशेवर रूप से प्रदान की जाती है।

12Th Ke Baad Kya Kare B Tech बीटेक कर सकते हैं

12Th Ke Baad Kya Kare बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (बी टेक) एक 4-साल की अवधि वाला अंडरग्रेजुएट इंजीनियरिंग डिग्री प्रोग्राम है। भारतीय शिक्षा के प्रसार क्षेत्र में, इंजीनियरिंग एक महत्वपूर्ण कोर्स के रूप में उच्च स्थिति में है, और विभिन्न संस्थान विभिन्न विशेषज्ञताओं के साथ बी टेक प्रदान करते हैं। प्रवेश पाने के लिए, सबसे सामान्य रास्ता जेईई मुख्य और जेईई एडवांस जैसी प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के माध्यम से होता है।

नेशनल-लेवल प्रवेश परीक्षाओं के बगैर, विभिन्न राज्य-स्तर और निजी प्रवेश परीक्षाएँ उपलब्ध हैं, जो छात्रों को प्रोग्राम में प्रवेश के लिए प्रतिस्पर्धा करने की अनुमति देती हैं। बी टेक डिग्री की पढ़ाई के लिए मानदंड गणित, रसायन विज्ञान, और भौतिक विज्ञान में मजबूत आधार के साथ 12वीं कक्षा की पूरी करने की आवश्यकता होती है।

12Th Ke Baad Kya Kare BCom बीकॉम कर सकते हैं

बैचलर ऑफ कॉमर्स (बीकॉम), एक तीन-साल का अंडरग्रेजुएट डिग्री प्रोग्राम है, जिसमें पूर्ण-समय और दूरस्थ शिक्षा के मोड दोनों उपलब्ध हैं, जिससे विभिन्न प्रकार के छात्रों के लिए एक विशाल विकल्प होता है। जो अपनी 12वीं कक्षा की पढ़ाई को वाणिज्य पर ध्यान केंद्रित करके पूरा कर चुके हैं, उनमें से बहुत से छात्र बीकॉम को एक सबसे प्रसिद्ध कोर्स विकल्प मानते हैं। AISSCE की रिपोर्ट के अनुसार, लगभग 9.33 लाख छात्र बीकॉम को भारत में 12वीं कक्षा के बाद तीसरे सबसे प्रसिद्ध कोर्स के रूप में चुनते हैं। आदर्श कोर्स, विशेष विषयों में विशेषज्ञता प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है; वहीं, सामान्य बीकॉम कोर्स वाणिज्यिक शाखा के सभी विषयों के अवलोकन पर केंद्रित है।

12Th Ke Baad Kya Kare BA बी ए कर सकते हैं

बैचलर ऑफ़ आर्ट्स (बीए), आर्ट्स क्षेत्र में सबसे लोकप्रिय अंडरग्रेजुएट कोर्सों में से एक है। यह एक तीन-साल का कोर्स होता है और इसका मुख्य उद्देश्य छात्रों को ह्यूमेनिटीज और सोशल साइंस के विशाल दुनिया को समझने के लिए तैयार करना है। स्नातक छात्रों के बाद, वे उच्च स्तर के पदों पर काम कर सकते हैं, जैसे कि एग्जीक्यूटिव एसोसिएट्स, एचआर मैनेजर्स, कॉपीराइटर्स, मार्केटिंग मैनेजर्स, सेल्स डायरेक्टर्स, और कई अन्य प्रोफाइल्स। स्नातक स्तर की पढ़ाई के बाद, छात्र भारतीय सिविल सेवा में शामिल होने का विचार कर सकते हैं या उच्च शिक्षा, जैसे कि मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए), और मास्टर ऑफ़ आर्ट्स (एमए) जैसे कोर्सों के लिए जा सकते हैं।

12Th Ke Baad Kya Kare MBBS एमबीबीएस कर सकते हैं

एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड सर्जरी) डिग्री एक पेशेवर बैचलर्स डिग्री है, जो छात्रों को चिकित्सा के क्षेत्र में उनके भविष्य के लिए तैयार करने पर केंद्रित है। बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड सर्जरी, जैसा कि नाम से पता चलता है, दो अलग-अलग डिग्री हैं जो एक ही क्षेत्र में एकत्र होती हैं और प्रैक्टिकल में साथ में प्रदान की जाती हैं। इस पाठ्यक्रम की अवधि 5.5 साल होती है और इसमें एक साल की इंटर्नशिप शामिल होती है। यह एक पेशेवर मेडिकल प्रोग्राम होता है, जो छात्रों को डॉक्टर या सर्जन बनाने के लिए उनके लक्ष्यों को पूरा करने की अनुमति देता है।

12Th Ke Baad Kya Kare PhD पीएचडी कर सकते हैं

12Th Ke Baad Kya Kare डॉक्टर ऑफ पिलॉसोफी (PhD) एक पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है जो शोध के क्षेत्र में प्राध्यापक बनने के इच्छुक छात्रों के लिए है। इस डिग्री का आदान-प्रदान विशेष शोध काम करने के लिए होता है और छात्र किसी विशेष विषय के बारे में नवाचारिक अनुसंधान करते हैं। एक Ph.D. प्रोग्राम की अवधि सामान्यतः 3-5 साल होती है, लेकिन यह विशिष्ट क्षेत्र और छात्र के अनुसंधान के प्रकार पर निर्भर करती है।

12Th Ke Baad Kya Kare CAF सीएफए कर सकते हैं

12Th Ke Baad Kya Kare (सीएफए) यह एक पेशेवर डिग्री है जो वित्तीय विशेषज्ञता में अध्ययन करने के इच्छुक छात्रों के लिए डिज़ाइन की गई है। सीएफए प्रोग्राम वित्तीय प्रबंधन और निवेश के क्षेत्र में गहरा ज्ञान प्रदान करता है और छात्रों को वित्तीय विश्लेषण, पोर्टफोलियो प्रबंधन, और निवेश विकल्पों की समझ देता है। सीएफए एक आदर्श कोर्स होता है जो वित्तीय उद्योग में करियर बनाने के इच्छुक छात्रों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। छात्रों को इस प्रोग्राम के अंतर्गत विभिन्न वित्तीय उपक्रमों में विशेषज्ञता प्राप्त करने का मौका मिलता है, और इससे वे वित्तीय विशेषज्ञों के रूप में नौकरी पाने के अवसर प्राप्त कर सकते हैं।

12Th Ke Baad Kya Kare

12Th Ke Baad Kya Kare Pharmacy फार्मेसी कर सकते हैं

फार्मेसी, एक महत्वपूर्ण स्वास्थ्य क्षेत्र का हिस्सा है, जो दवाओं के विकसन, निर्माण, और दवाओं की सुरक्षित उपयोग के लिए शैक्षिक प्रशिक्षण प्रदान करता है। फार्मेसी कोर्स छात्रों को बायोकेमिस्ट्री, फार्माकोलॉजी, फार्मासिस्टिक्स, और क्लिनिकल प्रैक्टिस के क्षेत्र में शिक्षा प्रदान करता है। यह कोर्स छात्रों को दवाओं के विज्ञान, प्रौद्योगिकी, और वित्तीय पहलुओं की समझ प्रदान करता है, जिससे वे बीच के कई महत्वपूर्ण भूमिकाओं में काम कर सकते हैं, जैसे कि फार्मासिस्ट्स, बायोकेमिस्ट्स, और औद्योगिक फार्मासिस्ट्स।

12Th Ke Baad Kya Kare Integrated course इंटीग्रेटेड कोर्स  कर सकते हैं

12वीं के बाद इंटीग्रेटेड कोर्स यूजी और पीजी स्तर के दोनों कोर्सेज़ का एक संयोजन है। कुछ उदाहरण हैं बीबीए+एमबीए, बीसीए+एमसीए, बीएससी+एमएससी, आदि। इंटीग्रेटेड कोर्स की अवधि 5 वर्ष है और यह अलग-अलग यूजी और पीजी कोर्सेज़ से एक वर्ष कम है। कोर्स को 10 समान सेमेस्टर में विभाजित किया गया है। छात्र कोर्स को यूजी और पीजी स्तरों के संतुलन और समन्वय के साथ कवर करता है।

12Th Ke Baad Kya Kare आप Law लॉ कर सकते हैं

लॉ कोर्स एक प्रसिद्ध अंडरग्रेजुएट पाठ्यक्रम है जो कानूनी पढ़ाई करने के इच्छुक छात्रों के लिए है। यह कोर्स छात्रों को कानूनी प्रक्रिया, कानूनी नियमों की समझ, और कानूनी मुद्दों के अध्ययन का मौका देता है। छात्र इस पाठ्यक्रम के अंतर्गत कानूनी विभिन्नता और उपाधिता प्राप्त करते हैं, जो उन्हें वकील, कानूनी सलाहकार, या कानूनी शाखा में काम करने के रूप में रोजगार के अवसर प्रदान कर सकते हैं। यह एक तीन-साल का कोर्स होता है और सामान्यतः स्नातक की डिग्री के रूप में पूरा किया जाता है।

12Th Ke Baad Kya Kare में बहुत बिकल्प है

यहाँ हमने विभिन्न बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम्स के बारे में थोड़ी जानकारी दी है, और उनके महत्वपूर्ण विशेषज्ञता क्षेत्रों को बताया है। इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्राप्त करने के लिए आपको उच्च माध्यमिक कक्षा की पासआउट की आवश्यकता होती है और फिर आप अपने रुचि और लक्ष्यों के आधार पर एक बैचलर्स कोर्स का चयन कर सकते हैं। यह डिग्री पाने के बाद, आपको विभिन्न करियर अवसर मिलते हैं और आप अपने रुचि के हिसाब से एक विशेषज्ञ क्षेत्र में काम कर सकते हैं।

12Th Ke Baad Kya Kare

ये भी पढ़ें IAS कैसे बने

12वीं के बाद मानविकी और सामाजिक विज्ञान के कोर्स

मानविकी और सामाजिक विज्ञान में स्नातक की डिग्री के कई विकल्प उपलब्ध हैं। इनमें से कुछ सबसे लोकप्रिय कोर्स इस प्रकार हैं:

  • बैचलर ऑफ सोशल वर्क (बीएसडब्ल्यू): यह तीन साल का कोर्स सामाजिक कार्य के सिद्धांतों और अभ्यास पर केंद्रित है। यह छात्रों को सामाजिक सेवाओं और गैर-लाभकारी संगठनों में करियर के लिए तैयार करता है।
  • बैचलर ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन (BJMC): यह तीन साल का कोर्स पत्रकारिता, मास मीडिया, संचार और विज्ञापन के सिद्धांतों और अभ्यास पर केंद्रित है। यह छात्रों को मीडिया, पत्रकारिता और संचार उद्योगों में करियर के लिए तैयार करता है।
  • बैचलर ऑफ आर्ट्स (बीए): यह तीन साल का कोर्स मानविकी और सामाजिक विज्ञान के विभिन्न विषयों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है। इसमें साहित्य, इतिहास, समाजशास्त्र, मनोविज्ञान, राजनीति विज्ञान, दर्शन और नृविज्ञान शामिल हो सकते हैं।
  • बैचलर ऑफ सोशल साइंसेज (बीएसएस): यह एक इंटरडिसिप्लिनरी कोर्स है जो विभिन्न सामाजिक विज्ञान विषयों के बीच संबंधों पर केंद्रित है। इसमें समाजशास्त्र, मनोविज्ञान, राजनीति विज्ञान, अर्थशास्त्र और नृविज्ञान शामिल हो सकते हैं।
  • बैचलर ऑफ सोशल साइंसेज इन इकोनॉमिक्स
  • बैचलर ऑफ लाइब्रेरी साइंस (B.Lib.Sc): यह तीन साल का कोर्स पुस्तकालयों और सूचना केंद्रों में काम करने के लिए आवश्यक कौशल और ज्ञान प्रदान करता है।
  • बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स (बीएफए): यह तीन या चार साल का कोर्स दृश्य कला, प्रदर्शन कला या अनुप्रयुक्त कला पर केंद्रित है। इसमें पेंटिंग, मूर्तिकला, संगीत, नृत्य, रंगमंच और डिजाइन शामिल हो सकते हैं।

12Th Ke Baad Kya Kare? PCM के कोर्स कौन से हैं?

  • Bachelor of Technology (B Tech)
  • B Tech in Aeronautical Engineering
  • Bachelor of Engineering (BE)
  • Bachelor of Architecture
  • B Tech in Electronics & Communication
  • Bachelor of Journalism and Mass Communication (BJMC)
  • BTech in Information Technology
  • B Tech in Mechanical Engineering
  • B Tech in Civil Engineering
  • B Tech in food technology
  • B Tech in Automobile Engineering
  • B Tech in Biotechnology
  • Bachelor of Computer Application (BCA)
  • B Tech in Chemical Engineering

भारत की बेस्ट यूनिवर्सिटीज़ कौन सी हैं?

भारत में कई प्रमुख और श्रेष्ठ यूनिवर्सिटियों की बहुत सारी सूचीएं हैं, लेकिन यहां कुछ बेहतरीन यूनिवर्सिटियों के बारे में बता जा रहा है:

  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IITs): भारत में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IITs) विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विश्वस्तरीय शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रसिद्ध हैं।
  • भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc): भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc) बेंगलुरु में स्थित है और विज्ञान, अद्भुत अनुसंधान, और शिक्षा के क्षेत्र में प्रमुख है।
  • जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU): जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) न्यू दिल्ली में स्थित है और सामाजिक और राजनीतिक अध्ययन के क्षेत्र में प्रमुख है।
  • डिल्ही विश्वविद्यालय: डिल्ही विश्वविद्यालय भारत की एक प्रमुख विश्वविद्यालय है और विभिन्न क्षेत्रों में शिक्षा प्रदान करता है।
  • एलिगर्ट पैरेंट (AIIMS): एलिगर्ट पैरेंट मेडिकल साइंसेस (AIIMS) न्यू दिल्ली में स्थित है और मेडिकल शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • मुंबई विश्वविद्यालय: मुंबई विश्वविद्यालय भारत के प्रमुख विश्वविद्यालयों में से एक है और विभिन्न क्षेत्रों में शिक्षा प्रदान करता है।
  • बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय: बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय भारतीय संस्कृति और विज्ञान के क्षेत्र में प्रमुख है और वाराणसी में स्थित है।
  • चंडीगढ़ विश्वविद्यालय: चंडीगढ़ विश्वविद्यालय पंजाब, हरियाणा, और चंडीगढ़ में अपनी उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए प्रसिद्ध है।

यह केवल कुछ उदाहरण हैं भारत में और भी कई श्रेष्ठ विश्वविद्यालय हैं, जिनमें से हर एक विशेष क्षेत्र में अपनी विशेषज्ञता और महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

12वीं के बाद करियर विकल्प क्या हैं?

रोजगार के अवसरINR वार्षिक वेतन
आर्किटेक्ट6-10 लाख
फ़िज़िशियन3.5-7 लाख
इंजीनियर2-5 लाख
फ़ाइनेंशियल एनालिस्ट2-7 लाख
प्रोफ़ेसर2-4 लाख
अकाउंटेंट3-6 लाख
गणितज्ञ3-6 लाख
डाटा एनालिस्ट3-6 लाख
12Th Ke Baad Kya Kare

12वीं PCB के बाद कुछ कोर्सेज़ की लिस्ट इस प्रकार है

  • Bachelor of Architecture
  • Bachelor in Computer Application (IT and Software)
  • BS in Bioinformatics
  • Bachelor of Viticulture
  • Bachelor of Naturopathy and Yogic Science (BNYS course)
  • Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery (BAMS)
  • Bachelor of Unani Medicine and Surgery (BUMS)
  • Bachelor of Dental Surgery
  • BSc Biotechnology
  • Bachelor of Science in Nursing
  • BSc Biochemistry
  • BSc Bioinformatics
  • BSc Botany
  • BSc Chemistry
  • BSc Environmental science
  • BSc Microbiology
  • BSc Zoology
  • BSc Physiology
  • Bachelor of Veterinary Science
  • BSc Food Technology
  • BSc Marine biology
  • BSc Molecular biology
  • BSc Biophysics
  • BSc Cell Biology
  • BSc Anatomy
  • BSc Pharmacology.

बायोलाॅजी में कोर्सेज के बाद करियर स्कोप क्या है?

बायो ग्रुप के बैचलर कोर्सेज के ग्रेजुएट्स के पास रोजगार के बेहतरीन अवसर हैं। उनके लिए नौकरियां केवल विज्ञान क्षेत्र में ही सीमित नहीं हैं बल्कि वे मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग, लॉ आदि जैसे अन्य क्षेत्रों में भी जा सकते हैं। छात्रों के लिए उपलब्ध नौकरी के अवसर, सैलरी पैकेज के मामले में बहुत अच्छे होते हैं। यहां कुछ टॉप जाॅब प्रोफाइल्स और Payscale के अनुसार उनका औसत वार्षिक वेतन नीचे दिया गया हैः

पेशेवरवार्षिक वेतन (INR)
आईटी प्रोफेशनल6-10 लाख
माइक्रोबायोलॉजिस्ट4.5-8 लाख
टॉक्सिकोलॉजिस्ट3-6 लाख
फिजिशियन3-6 लाख
फोरेंसिक साइंटिस्ट3-5 लाख
लैब टेक्नीशियन3-5 लाख
क्लिनिकल ​​साइंटिस्ट2-5 लाख
मैथमेटिशियन3-6 लाख
रिसर्च साइंटिस्ट2-4 लाख
एग्रीकल्चर साइंटिस्ट2-7 लाख
साइकोलॉजिस्ट2-4 लाख
नर्स2-5 लाख

भारत के बेस्ट यूनिवर्सिटीज़ की लिस्ट

  • श्री वेंकटेश्वर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी)
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी
  • गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी
  • अन्ना यूनिवर्सिटी
  • लखनऊ यूनिवर्सिटी
  • मुंबई यूनिवर्सिटी
  • पुणे यूनिवर्सिटी
  • हिंदू कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी)
  • मिरांडा हाउस (दिल्ली)
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी
  • लोयोला कॉलेज चेन्नई
  • इलाहाबाद यूनिवर्सिटी
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज

12वीं के बाद सरकारी नौकरी के क्या ऑप्शन हैं?

12th पास छात्रों के लिए सरकारी नौकरी के भी कई विकल्प हैं। इसके लिए आपको 12th के बाद विभिन्न पदों के लिए अलग अलग प्रतियोगी परीक्षाओं से गुजरना पड़ेगा। कुछ प्रमुख सरकारी नौकरी के विकल्प इस प्रकार हैं

  • बैंकिंग: बैंकिंग क्षेत्र 12वीं के बाद सरकारी नौकरी के लिए एक लोकप्रिय विकल्प है। बैंक पीओ और क्लर्क के पदों के लिए हर साल कई परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। इन पदों पर वेतन और लाभ अच्छे होते हैं।
  • रेलवे: भारतीय रेलवे में 12वीं के बाद कई सरकारी नौकरी के पद उपलब्ध हैं। इनमें रेलवे क्लर्क, रेलवे कांस्टेबल, रेलवे ट्रैकमैन, रेलवे इलेक्ट्रीशियन, आदि के पद शामिल हैं। इन पदों पर वेतन और लाभ अच्छे होते हैं।
  • कर्मचारी चयन आयोग (SSC): कर्मचारी चयन आयोग (SSC) केंद्र सरकार के तहत विभिन्न विभागों में 12वीं के बाद सरकारी नौकरी के पदों के लिए परीक्षा आयोजित करता है। इनमें कांस्टेबल, क्लर्क, डाटा एंट्री ऑपरेटर, आदि के पद शामिल हैं। इन पदों पर वेतन और लाभ अच्छे होते हैं।
  • शिक्षा: सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में शिक्षकों के पदों के लिए हर साल कई भर्तियां होती हैं। इन पदों पर वेतन और लाभ अच्छे होते हैं।
  • पुलिस: भारतीय पुलिस में 12वीं के बाद कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल, सब-इंस्पेक्टर, इंस्पेक्टर, आदि के पदों के लिए भर्तियां होती हैं। इन पदों पर वेतन और लाभ अच्छे होते हैं।
  • रक्षा: भारतीय सशस्त्र बलों में 12वीं के बाद कांस्टेबल, नाविक, सिपाही, आदि के पदों के लिए भर्तियां होती हैं। इन पदों पर वेतन और लाभ अच्छे होते हैं।

12वीं के बाद सरकारी जॉब प्रोफाइल इस प्रकार हैं

  • भारतीय सेना
  • भारतीय रेल
  • डाटा एंट्री ऑपरेटिंग
  • आरआरबी एनटीपीसी
  • आरआरबी ग्रुप डी
  • एसआई
  • कांस्टेबल/हेड कांस्टेबल भर्ती
  • एसएससी एमटीएस
  • आरपीएफ कांस्टेबल
  • एसएससी जीडी कांस्टेबल
  • एसएससी सीएचएसएल
  • पुलिस
  • एसएससी स्टेनोग्राफर
  • फॉरेस्ट गार्ड
  • एन डी ए
  • इंडियन कोस्ट गार्ड
  • बैंक आईबीपीएस

12वीं कॉमर्स के बाद का कोर्स क्या है?

12वीं कॉमर्स के बाद कोर्सेज करके जाॅब्स के अच्छे बिकल्प मौजूद हैं। यहां 12वीं कॉमर्स करने के बाद कुछ बेहतरीन कोर्सेज की लिस्ट नीचे दी गई हैः

  • BJMC(Bachelor of Journalism and Mass Communication
  • BBA (Bachelors of Business Administration)
  • BMS(Bachelors of Management Studies)
  • BCom (Bachelors of Commerce)
  • B.E (Bachelor of Economics)
  • C.A. (Chartered Accountancy)
  • BCom Hons

12वीं कॉमर्स में कोर्सेज के बाद करियर के विकल्प क्या हैं?

12वीं कॉमर्स से संबंधित कोर्सेज़ के बाद आप़ दिए गए इन जाॅब्स प्रोफाइल्स पर जाॅब्स पा सकते हैं.

रोजगार के अवसरINR में वार्षिक वेतन
ह्यूमन रिसोर्स मैनेजर3-6 लाख
बिजनेस कंसलटेंट2-5 लाख
अकाउंट मैनेजर3-5 लाख
अकाउंट एक्जीक्यूटिव2-5 लाख
कंसल्टेंट3-6 लाख
अकाउंटेंट3-5 लाख
जूनियर अकाउंटेंट2-4 लाख

12Th Ke Baad Kya Kare का निष्कर्षण

12वीं के बाद क्या करें, यह सवाल हर किसी के मन में रहता है। यह लेख विज्ञान और वाणिज्य स्ट्रीम के छात्रों के लिए विभिन्न करियर विकल्पों को समझाने में मदद करेगा। आपके शिक्षा और रुचि के आधार पर एक अच्छा करियर चुनना महत्वपूर्ण होता है, और यह आपके भविष्य को सफलता की ओर बढ़ा सकता है। हमारा ये लेख पसंद आया हो तो दोस्तों में शेयर करे धनवाद।

FAQ अक्शर पूछे जानेवाले सवाल

क्या 12वीं के बाद कॉमर्स स्ट्रीम के छात्र इंजीनियर बन सकते हैं?

हाँ, कॉमर्स स्ट्रीम के छात्र इंजीनियरिंग कोर्स कर सकते हैं, लेकिन उन्हें इंजीनियरिंग क्षेत्र में प्रवेश के लिए कुछ विशेष शर्तें पूरी करनी होती हैं।

बैचलर ऑफ कॉमर्स और बैचलर ऑफ आर्ट्स में क्या अंतर है?

बैचलर ऑफ कॉमर्स व्यवसाय और वित्त क्षेत्र में अध्ययन कराता है, जबकि बैचलर ऑफ आर्ट्स विभिन्न शिक्षा और विज्ञान क्षेत्रों में अध्ययन कराता है।

क्या मेडिकल कोर्सेस के लिए NEET की आवश्यकता होती है?

हाँ, भारत में मेडिकल कोर्सेस के लिए NEET (National Eligibility cum Entrance Test) का परीक्षण देना अनिवार्य होता है।

क्या व्यापारिक क्षेत्र में करियर बनाने के लिए बैचलर ऑफ कॉमर्स होना आवश्यक है?

नहीं, व्यापारिक क्षेत्र में करियर बनाने के लिए बैचलर ऑफ कॉमर्स होना आवश्यक नहीं होता है, लेकिन यह करियर चुनने में मदद कर सकता है।

2 thoughts on “जानिए 12th Ke Baad Kya Kare क्या होना चाहिए आपका अगला कदम?”

Leave a comment